अरावली विचार मंच की कार्यकारिणी की कोरोना महामारी की वजह से आपातकालीन बैठक (दिनांक 24.03.2020) के मिनट्स

वाट्सएप के माध्यम से ऑनलाइन मीटिंग आयोजित की गई, और निम्न बिंदुओं पर चर्चा की गई..

1. कोरोना महामारी से सम्बन्धित राजस्थान सरकार के मुख्य मंत्री के राहत कोष में सहयोग।

जैसा सभी को विदित है कि इस समय देश में कोरोना महामारी की वजह से सभी का हाल अस्त-व्यस्त है। राजस्थान सरकार ने इस महामारी से निपटने के लिए एक विशेष राहत कोष की घोषणा की है। इस घोषणा में सभी लोग और संस्थाएं सहयोग कर रही कर रही हैं। मुझे लगता है कि हमें भी हमारी

संस्था अरावली विचार मंच के माध्यम से कोरोना से संबंधित राजस्थान सरकार के राहत कोष में सहयोग करना चाहिए।

यदि हम व्यक्तिगत तौर पर अलग-अलग छोटी राशि का सहयोग करेंगे तो सहयोग का उतना महत्व नहीं रहेगा। बेहतर होगा कि हम सब पहले अरावली विचार मंच के खाते में सहयोग करें, तत्पश्चात एक साथ अरावली विचार मंच की ओर से सहयोग राशि मुख्यमंत्री जी को राहत कोष हेतू दी जाए। ऐसा करने से एक बड़ी राशि मुख्यमंत्री राहत कोष में जाएगी साथ ही हमने भूमि आवंटन की जो प्रक्रिया प्रारंभ की है उसमें भी हमें मदद मिलेगी।

निर्णय लिया गया कि अरावली विचार मंच के सभी इच्छुक सदस्य लगभग 1 दिन के वेतन की राशि इस राहत कोष हेतु दान करेंगे।

अरावली विचार मंच के बैंक खाते का विवरण –
Aravali Vichar Manch,
Axis Bank A/C No. 010010100150231,
IFSC – UTIB0000010
Brach Address : O-15, Green House, Ashok Marg, C-Scheme, Jaipur 302001

2. अरावली ई-पत्रिका का प्रथम अंक दिनांक 14.04.2020 को प्रकाशित होना है।

अत: अधिक से अधिक लेख दिनाांक 31.03.2020 तक प्रेषित कर दे। ई-पत्रिका हेतु विज्ञापन की दर निम्न निर्धारित की गई है –
Back page : Rs. 10000/-
Inner back pages front and rear : Rs. 8000/-
Other pages full: Rs. 5000/-
Other Pages half : Rs 3000/-.

3. A Google Form for Details of Contributors…

A google Form has been created for keeping accountal of this contribution. Members are requested to please fill the same.

Please click here to fill the Form.

सादर
रघुवीर प्रसाद मीना
महासचिव, अरावली विचार मंच


1 Comment

pldevand · March 26, 2020 at 4:45 pm

Excellent decition by Executive committee. All the best.

Leave a Reply or Suggestion

%d bloggers like this: